duniya ko bhul jau kuch aisi baat kar lyrics in hindi

duniya ko bhul jau kuch aisi baat kar lyrics 

जंगल है आधी रात हैलगने लगा है डर
दुनिया को भूल जाऊंकुछ ऐसी बात कर

जंगल है आधी रात हैलगने लगा है डर
दुनिया को भूल जाऊंकुछ ऐसी बात कर

डरने वाली क्या बात हैजब साथ में है दिलबर
आजा मेरी बाहों मेंसजा रख के सर

डरने वाली क्या बात हैजब साथ में है दिलबर
आजा मेरी बाहों मेंसजा रख के सर

हाय जंगल है आधी रात हैलगने लगा है डर
आजा मेरी बाहों मेंसजा रख के सर..

दिल में क्या होती है – हलचलबेताबी छाई है – पल पल
गालों की रंगत लूं – ले लेओ मैं तो यहीं चाहती हूँ

तन्हाई का आलम, तारे भी सोये हैं हम भी एक दूजे की चाहत में खोए हैं
तन्हाई का आलम, तारे भी सोये हैं हम भी एक दूजे की चाहत में खोए हैं

बाहर मौसम सर्दी का
क्यूँ गर्मी है अंदर

हाय जंगल है आधी रात हैलगने लगा है डर
आजा मेरी बाहों मेंसजा रख के सर..

तुझे पागल मैं कर दूं – कर देआगोश में भर लूं – भर ले
हाय सिने से लग जाऊं – लग जाहो ये लो सनम आ गयी

आँख तो खुली है लेकिन तुम सो गयी हो जानता हूँ मैं तुम दीवानी हो गयी हो
आँख तो खुली है लेकिन तुम सो गयी हो जानता हूँ मैं तुम दीवानी हो गयी हो

हम दोनों आज अकेले कोई भी ना घर पर
हाय जंगल है आधी रात है लगने लगा है डर
दुनिया को भूल जाऊंकुछ ऐसी बात कर

डरने वाली क्या बात है जब साथ में है दिलबर
आजा मेरी बाहों में सजा रख के सर

हाय जंगल है आधी रात है लगने लगा है डर
दुनिया को भूल जाऊं कुछ ऐसी बात कर

डरने वाली क्या बात है जब साथ में है दिलबर
आजा मेरी बाहों में सजा रख के सर

जंगल है आधी रात है..

hi my name is prashant. i am author of this lyrics website. All the lyrics published on this website are not my own. All these lyrics are the property of those great lyricists. I thank all those lyricists. If anyone has any problem with these lyrics then direct mail me on [email protected] or whatsapp on 8692929800.