kabhi raat din hum door the lyrics

kabhi raat din hum door the lyrics – english

kabhi raat-din hum dur the,
din-raat ka abb saath hai

kabhi raat-din hum dur the,
din-raat ka abb saath hai

woh bhi itefaaq ki baat thi,
yeh bhi itefaaq ki baat hai

woh bhi itefaaq ki baat thi,
yeh bhi itefaaq ki baat hai
kabhi raat-din hum dur the

teri aankh me hai khumaar sa,
meri chaal me hai surur sa

teri aankh me hai khumaar sa,
meri chaal me hai surur sa

yeh bahaar kuchh hai piye huye,
yeh sama nashe me hai chur sa

yeh sama nashe me hai chur sa
kabhi in fijaao me pyaas thi,

abb mausam-e-barsaat hai
woh bhi itefaaq ki baat thi,

yeh bhi itefaaq ki baat hai
kabhi raat-din hum dur the

mujhe tumne kaise badal diya,
hairaan hu main is baat par

mujhe tumne kaise badal diya,
hairaan hu main is baat par

mera dil dhadakta hai aajkal,
teri shaukh najaro se puchhkar

teri shaukh najaro se puchhkar
meri jaan kabhi mere bas me thi,

abb jindagi tere haath me hai
woh bhi itefaaq ki baat thi,

yeh bhi itefaaq ki baat hai
kabhi raat-din hum dur the

yu hi aaj tak rahe hum juda,
tumhe kya mila hame kya mila

yu hi aaj tak rahe hum juda,
tumhe kya mila hame kya mila

kabhi tum khafa, kabhi hum khafa,
kabhi yeh gila, kabhi woh gila

kabhi yeh gila, kabhi woh gila
kitne bure the woh din sanam,

kitni hasin yeh raat hai
woh bhi itefaaq ki baat thi,

yeh bhi itefaaq ki baat hai
kabhi raat-din hum dur the,

din-raat ka abb saath hai
kabhi raat-din hum dur the


Kabhi Raat Din Hum Door The Lyrics in Hindi

कभी रात दिन हम दूर थे
दिन रात का अब्ब साथ है

कभी रात दिन हम दूर थे
दिन रात का अब्ब साथ है

वह भी इत्तेफाक की बात थी
यह भी इत्तेफाक की बात है

वह भी इत्तेफाक की बात थी
यह भी इत्तेफाक की बात है
कभी रात दिन हम दूर थे

तेरी आँख में है ख़ुमार सा
मेरी चाल में है सुरूर सा

तेरी आँख में है ख़ुमार सा
मेरी चाल में है सुरूर सा

यह बहार कुछ है खिले हुए
यह समां नशे में है चुर सा

यह समां नशे में है चुर सा
कभी इन फिजाओं में प्यास थी

अब्ब मौसम बरसात है
वह भी इत्तेफाक की बात थी

यह भी इत्तेफाक की बात है
कभी रात दिन हम दूर थे

मुझे तुमने कैसे बदल दिया
हैरान हूँ मैं इस बात पर

मुझे तुमने कैसे बदल दिया
हैरान हूँ मैं इस बात पर

मेरा दिल धड़कता है आजकल
तेरी शौख नजरो से पूछकर

तेरी शौख नजरो से पूछकर
मेरी जान कभी मेरे बस में थी

अब्ब जिंदगी तेरे हाथ है
वह भी इत्तेफाक की बात थी

यह भी इत्तेफाक की बात है
कभी रात दिन हम दूर थे

यूँ ही आज तक रहे हम जुदा
तुम्हे क्या मिला हमें क्या मिला

यूँ ही आज तक रहे हम जुदा
तुम्हे क्या मिला हमें क्या मिला

कभी तुम खफा
कभी यह गिला
कभी यह गिला

कितने बुरे थे वह दिन सनम
कितनी हसीं यह रात है

वह भी इत्तेफाक की बात थी
यह भी इत्तेफाक की बात है

कभी रात दिन हम दूर थे
दिन रात का अब्ब साथ है
कभी रात दिन हम दूर थे.